KATER HINDU SHAYARI

KATER HINDU SHAYARI

May 27, 2023 - 15:56
Jul 14, 2023 - 09:28
 0  122

1.

ना मुझे नाम चाहिये ना ही मुझे ईनाम चाहिए मुझे तो बस भगवा से सजा पूरा हिन्दुस्तान चाहिये. जय भगवा

2.

मुहर्रम में महादेव बसें रमज़ान में राम संपूर्ण राष्ट्र में भगवा बसे ऐसा हो मेरा हिंदुस्तान प्रेम से बोलिए जय श्री राम .

3.

ना हम भगवा रंग छोड सकते हैं न जीने का ढंग छोड सकते हैं अरे फितरत से सिरफिरे हैं हम न हौसला-ए-दबंग छोड़ सकते हॆैं न ही हिंदुत्व छोड़ सकते है . जय भगवा

4.

धूल चटा दो गिद्धों को जो घर में घुसकर घात करें और जीभ काट लो कुत्तों की जो हिंदुत्व के खिलाफ बात करें . जय श्री राम

5.

अगर हुआ मेरे धर्म पर घात तो मैं प्रतिघात करूँगा मैं हिन्दू हूँ हिंदुत्व की ही बात करूँगा . जय श्री राम

6.

कलम की धार तेज कर स्याही खुन की बना दो हर एक हिन्दू के अन्दर भगवा को जगा दो.

7.

लत हिन्दुगिरी की लगी है तो नशा अब सरे आम होगा हर लम्हा मेरे जीवन का सिर्फ हिन्दुत्व के नाम होगा. जय हिन्दुत्व

8.

तो पूरे विश्व में अपना राज होता भगवा आतंकवाद होता तो मेरे राम तंबू में न होते . जय श्री राम

9.

हाथो मे तलवार होना चाहिये रक्त मे उबाल होना चाहिये मन मे विश्वास होना चाहिये जो हिंदुत्व की और आँख उठाये उसकी गर्दन उसके धड़ से अलग कर देनी चाहिये . जय श्रीराम

10.

हिंदू समाज जात पात में बँटा है कहने वालों को करारा तमाचा हिंदुत्व भेदभाव नहीं करता . जय श्री राम

11.

आँख उठाए जो कोई हिन्दुस्तान की ओर वह आँख ही फोड़ दूंगा जो मौका मिला भारत तो क्या पाकिस्तान की हर मस्जिद पर भगवा गाड़ दूंगा . हर हर महादेव

12.

मन भी भगवा, तन भी भगवा, भगवा रंग जवानी का कहत कबीर सुनो भाई साधो, रंग हैं ये बलिदानी का.

13.

तुमने हिन्दू बेटियॊ को लव जिहाद का दर्द दिया हमने मुस्लिम बेटियो को तीन तलाक से आजादी दी ये है हिन्दू संस्कार ये हे हिन्दूत्व .

14.

जलते दीपक में भगवा है कब तक उसे बुझाओगे भगवा मिटाने वालों कैसे सूरज चाँद मिटाओगे.

15.

जिसको भगवा से प्यार नहीं वो भड़वा मेरा यार नहीं जय श्री राम

16.

तैयारी कर लो रामनवमी की क्योंकि हमें मंदिर में भिड और सड़क पर तूफान चाहिए हाथों में भगवा और जुबान पर जय श्री राम चाहिए

17.

अनपढ़ लोगो की वजह से ही हमारी मातृभाषा बची हुई हैं साहब वरना पढ़े हुए कुछ लोग तो राम राम बोलने में भी शरमाते हैं . जय भगवा राज

18.

मैं हिन्दुत्व कहूँगा तुम हिन्दुस्तान समझ लेना . जय भगवा

19.

हिन्दुत्व धरा का धर्म है भगवा नही झुकेगा काफिला शेरो का है कुत्तों से नही रुकेगा. जय श्री राम

20.

जय भारत माता तेरी शान निराली जय भगवाराज बाह रे भगवा तेरी शान तुझे देख सब परेशान .

21.

हौसलों की दहाड़ होगी संघर्षों की ललकार होगी आ रहा है वक्त जब पूरे भारत में भगवा की सरकार होगी. जय श्री राम

22.

हिंदुत्व से उपजी सभी विचारधाराएँ महान हैं चाहे बौद्ध, जैन अथवा सिख कोई भी हो . जय श्री राम

23.

ना भावनाओं से ना संविधान से देश चलेगा तो सिर्फ गीता पुराण से . जय हिंदुत्व

Dhrmgyan अब आप भी इस वेबसाइट पर जानकारी साझा कर सकते हैं। यदि आपके पास लोक साहित्य, लोकसाहित्य या इतिहास से संबंधित कोई रोचक जानकारी है और आप इसे दूसरों के साथ साझा करना चाहते हैं, तो इसे हमारे ईमेल- [email protected] पर भेजें और हम इसे लाखों लोगों के साथ साझा करेंगे। .